कारकस (Utilization Plant)

        मृत मवेशी के उचित निस्तारण हेतु जोधपुर नगर निगम द्वारा कारकस Utilization Plant केरू मे लगाया गया है। इस प्लांट के माध्यम से मृत मवेशी की प्रत्येक चीज का पुनः उपयोग किया जाता है। मृत मवेशी की हड्डी व मीट को उपरोक्त मशीन मे सुखाकर मुर्गी का दाना बनाया जाता है। एवं फेट को अलग कर उसका पुनः उपयोग किया जाता है।

        यह सभी Prosses वैज्ञानिक तरीके से होती है और इस च्तवबमेे मे करीब 4 घण्टे का समय लगता है। इस प्लांट के लगाने के बाद मृत मवेशी की हड्डीयों के ढेर एवं बदबू इत्यादि नही आती है। इस प्लांट पर निगम द्वारा 2.72 करोड़ रू व्ययं किये गये है। राजस्थान में एकमात्र जोधपुर में ही यह प्लांट चल रहा है। प्लांट को लगाते हुए 10 साल से ज्यादा समय हो चुका है।